The Dove And Bee Story In Hindi - Story For Kids In Hindi,hindi story for kids,kids moral stories,moral stories in hindi,hindi stories for kids

 The Dove And Bee Story In Hindi - Story For Kids In Hindi

THE DOVE AND BEE STORY IN HINDI
The Dove And Bee Story In Hindi



कबूतर और मधुमक्खी की कहानी

जंगल में एक पुल के किनारे एक कबूतर और मधुमक्खी रहते थे एक बार मधुमक्खी नदी में गिर गई  तेज बहाव के कारण  मधुमक्खी  पानी में डूबने लगी. उसके पंख गीले हो गए उसने बाहर निकलने की बहुत कोशिश कि लेकिन उसके पंख गीले हो गए और उसे जब लगने लगा कि वह नहीं निकल सकती तो उसने मदद के लिए चिल्लाना शुरू कर दिया

तभी पास पेड़ के ऊपर नदी के किनारे एक कबूतर  बैठा था उसने मधुमक्खी को डूबता देखा तो तुरंत उसने उसकी मदद करने का फैसला किया एक पत्ता पानी में डाल दिया और मधुमक्खी पत्ते पर चड़ गई थोड़ी ही देर बाद मधुमक्खी बाहर आई और अब उसके पंख सुख चुके थे और अब वह उड़ने के लिए तैयार थी मधुमक्खी ने कबूतर को जान बचाने के लिए धन्यावाद कहा और वहाँ से उड़ गई 


इस बात को बीते हुए बहूत्त समय हो चुका था एक दिन एक लड़का कबूतर पर गुलेल से निशाना लगा रहा था कबूतर गहरी नींद मे था और वह इस बात से अनजान था लेकिन मधुमक्खी मे ये सब देख लिया मधुमक्खी ने उड़कर लड़के के हाथ पर डंक मार दिया और लड़का चिल्लाने लगा और उसके हाथ से गुलेल छूट गई । 

कबूतर अब जाग गया था और उसने देखा कि ये वही मधुमक्खी थी जिसकि उसने जान बचाई थी वह ये सब देखकर सब समझ गया । कबूतर ने मधुमक्खी को जान बचाने के लिए धन्यवाद किया और दोनों जंगल की तरफ उड़ गए 

Moral Of The Duck And Bee Story - अच्छा करोगे तो अच्छा पाओगे  

WEB TITLE - DOVE AND THE BEE STORY ,KABOOTAR KI KAHANI,HONE BEE IN HINDI,BEE STORY,CHINTI AUR KABOOTAR,
Previous
Next Post »