Arati Saha Death - How She Died ?

Who Is Arati Saha | Why Google Celebrates Her Birth Anniversary |

In this article I explain who is Arati Saha and by Google salary, Arati Saha BEcame first Indian and Asian woman to swim across English Channel,arati saha achievements,igoogle arati saha



आरती साहा गुप्ता एक भारतीय लंबी दूरी की तैराक थी . ARATI SAHA गुप्ता कोलकाता के पश्चिम बंगाल में जन्मे थे और 4 साल के उम्र में  तैराक बनने की ट्रेनिंग शुरू कर दी थी और उनके कोच सचिन नाग ने उनकी इस प्रतिभा को पहचाना . भारतीय तैराक मेहर सेन MIHIRR SEN अब से प्रभावित होकर उन्होंने इंग्लिश चैनल को पार किया और 1959 में वह पहली ASIAN SWIMER तैराक बनी


ARATI SAHA 1959 में पहली भारतीय महिला बनी जिन्हें पदम विभूषण से नवाजा गया. ARATI SAHAका जन्म एक मध्य परिवार में 1940 में कोलकाता के पश्चिम बंगाल में हुआ . ARATI SAHAने छोटी सी उम्र में अपने माता पिता को खो दिया और उनकी दादी ने उन्हें बड़ा किया ,जब आरती साहा गुप्ता 4 साल की थी तो वह अपने चाचा के साथ एक घाट पर जाती रहती थी और वहीं से उसने तैरना सीख लिया था. 


उनकी इस प्रतिभा को उनके चाचा ने तराशा और उन्हें एक स्विमिंग क्लब में दाखिला दिलवाया 1946 में मात्र 5 वर्ष की उम्र में उन्होंने अपने स्कूल के स्विमिंग प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक जीता और यहां उनकी स्विमिंग करियर की शुरुआत थी 1945से लेकर 1951 के बीच आरती साहा गुप्ता ने कई प्रतियोगिताओं में भाग लिया और जिसमें से उन्होंने 22 स्टेट गोल्ड मेडल जीते.


सन 1948 में मुंबई में आयोजित राष्ट्रीय प्रतियोगिता में आरती शाह ने भाग लिया उन्होंने 100 मीटर REE STYLE और 200 METER में  कांस्य पदक जीता सन 1959 में उन्होंने HENSIKI OLYPIC मैं भाग लिया वहां उन्होंने 3 मिनट 40.8 SECका रिकॉर्ड टाइम बनाया जब वहओलंपिक के बाद भारत आए तो वह अपनी बहन BHARTI SAHA से 100 मीटर फ्रीस्टाइल में हार गई 


 इसका नुकसान से वह BREST स्टॉक में केंद्रित हैऔर वह गंगा में लंबी तरह प्रतियोगिताओं में भाग लेती रहती थी ,भारतीय तैराक  मेहर सिंह से प्रेरणा लेकर उन्होंने इंग्लिश चैनल को पार किया


भारत के प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने भी आरती के प्रयासों को समर्थन दिया 13 अप्रैल 1959 को प्रसिद्ध तैराक औरहजारों समर्थकों की उपस्थिति में देश भारत में 8 घंटे के लिए तैरना शुरू कर दियाऔर बाद में वह 16 घंटे तक तैरती रही थी अब आरती साहा इंग्लिश चैनल में अपना TRAINING शुरू कर दी और इस प्रतियोगिता में  18 देशों के 22 प्रतिभागियों ने भाग लिया 



गुरुवार को गूगल ने साहा को इंग्लिश चैनल को पार करते हुए दर्शाया, साथ ही इसमें उनके चित्र को कंपास के साथ चित्रित किया गया। इस चित्र को कोलकाता के कलाकार लावण्या नायडू ने बनाया था। 

एक साक्षात्कार में, नायडू ने कहा कि आरती साहा कोलकाता के घरों में एक प्रसिद्ध नाम हैं। उन्होंने कहा, मुझे आशा है कि यह हमारे देश के इतिहास में जब भी किसी क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए महिलाओं को याद किया जाएगा, तो उसमें आरती साहा का नाम भी शामिल होगा


Arati Saha Death 

4 अगस्त 1994 को उन्हें भारत के एक अस्पताल में पीलिया के कारण भर्ती कराया गया और 19 दिनों के संघर्ष के बाद 23 अगस्त 1994 को उनकी पीलिया के कारण मौत हो गई और आरती साहा गुप्ता ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया


 web title -  Arati Saha biography, Arati Saha sampurn jivani, Arati Saha biography in Hindi, who is Arati Saha, Arati Saha Indian swimmer, 

Indian to swim English Channel, world record 






Previous
Next Post »