लक्ष्य -Swami vivekananda New short story in hindi with moral

 लक्ष्य -Swami vivekananda New short story in hindi with moral

Short moral stories in hindi,short stories for kids in hindi,short motivational story,short inspirational story,swami vivekananda inspirational short story for students ,swami vivekanand short moral stories




 


नमस्कार दोस्तों आपका स्वागत है हमारे हिन्दी ब्लॉग himachaljosh.in मे जहां आपको मिलती है inspirational stories in hindi ,moral stories in hindi ,motivational stories in hindi ,biography in hindi और भी कई प्रकार की कहानिया और लेख जिनसे आपको बहुत कुछ सीखने को मिलता है,और आज हम पढ़ेंगे विवेकानंद जी की कहानी जिसमे उन्होंने बताया है कि कैसे आप अपने लक्षय को पा सकोगे , तो बिना आपका समय लिए शुरू करते है इस कहानी 


एक बार स्वामी विवेकानंद शिकागो मे भाषण देने गए और सानी काल वह शिकागो मे भ्रमण करने निकले भ्रमण करते समय विवेकानंद ने कुछ लड़कों को नदी मे तैर रहे पत्तों को निशाना लगा रहे थे परंतु उन मे से कोई भी सही निशाना नहीं लगा पा रहा था स्वामी विवेकानंद जी ने उनसे बंदूक ली और निशाना लगाया हैरानी कि बात यह रही कि वह पहला निशाना ही लग गया स्वामी जी ने दूसरा निशाना लगाया वह भी लग गया इस तरह स्वामी विवेकानंद  जी ने 10 बार निशाना दाग और सभी बार निशाना लगा 


यह देखकर वह लड़के हैरान हो गए और कहने लगे कि आपने ये कैसे किया क्या आप कोई निशाने बाज हो हमसे एक भी निशाना नहीं लगा और आपने एक के बाद एक निशाने लगा दिया कैसे ?यह सुनकर स्वामी जी मुस्कुराये और बोले तुम जो भी कर रहे हो उसमे अपना दिमाग तन मन धन और पूरा प्रयास डाल दो अगर तुम अपने उसी काम मे ये सब गाओगे तो तुम्हें सफलता निश्चित ही मिलेगी  


अगर तुम निशाना लगा रहे हो तो पूरा ध्यान एकत्रित कर निशाना लगाने पर करो अगर तुम पढ़ाई कर रहे हो तो पूरा ध्यान पढ़ाई पर एकत्रित करो अर्थात आप कोई भी काम करो अपना पूरा ध्यान उसमे झोंक दो। स्वामी जी कहते है उठो जागो और तब तक मत रुको जब तक लक्ष्य प्राप्त ना हो सके दोस्तों यही वह कथन था जिसने स्वामी विवेकानंद को कम उम्र मे विश्व विख्यात बना दिया था 


स्वामी जी के इसी वाक्यों को कई लोग अपने ऊपर अपनाते हैं और इसमे कोई शक नहीं है कि स्वामी जी आज भी करोड़ों युवाओं के आदर्श है, उनका मानना है कि आज के युवाओं को शारीरिक से ज्यादा आंतरिक प्रगति होनी चाहिए और अलग अलग दिशा मे नहीं बल्कि एक दिशा मे ध्यान एकत्रित कर अंत तक अपने लक्ष्य को पाए का प्रयत्न करना चाहिए 


युवा को अपने कार्य मे अपनी पूरी शक्ति लगा देनी चाहिए परंतु क्या आप युवा है ? स्वामी विवेकानंद जी के अनुसार युवा वह है जो अनीति से लड़ता है ,दुर्गुणों से दूर रहता है ,काल की चाल बदल देता है जिसमे होश के साथ होश भी हो , जिसके पास हर समस्या का हल हो जो बाते नहीं बल्कि कुछ करके दिखाता हो 


स्वामी विवेकानंद के अनुसार आदमी का जन्म लक्ष्य के प्रगटन के साथ होता है विवेकानंद कहते थे कि जिसके जीवन मे कोई लक्ष्य न हो वे तो हस्ती खेलती लाश है जब तक व्यक्ति अपने जीवन  के विशेष लक्ष्य को न पहचान न  ले तब तक उसका जीवन व्यर्थ है अतः लक्ष्य निर्धारित करना बहुत जरूरी है यह उसके जीव का आधार है 


जब कोई युवा विवेकानंद जी के पास आता है और गीता समझाने की बात करता तो वह कहते जाओ मैदान मे जाओ पहले वर्जिश करो खेलों अपने आप को मजबूत करो तभी तुम गीता के ज्ञान को समझ पाओगे , स्वामी विवेकानंद ने मात्र 31 वर्ष कि उम्र मे पूरे विश्व मे भारत की संस्कृति को ऐसे पेश किया जिससे पूरा विश्व दंग रह गया था 


अपनी प्रेरणा , साहित्य ,विचार और कर्म से भारत सहित पूरे विश्व को प्रकाशित किया यहाँ तक की आड़े buisness man elon musk भी उन्हे अपना आदर्श मानते है और भारत मे नरेंद्र मोदी जी भी उन्हे अपना आदर्श मानते हैं 



Moral Of inspirational Short Story 

इस कहानी से हमे विवेकानंद जी कई सीख दे के जाते हैं कितू एक सीख युवाओ के लिए ये है कि अपने जीवन मे सिर्फ एक लक्ष्य रखो और अंत तक उस लक्ष्य को प्राप्त करने का प्रयास करें 


आपको यह hindi kahani कैसी लगी हमे कममेंट करके जरूर बताएं तथा अपने युवा मित्र से इसे जरूर share करें क्या पता आपके एक share से किसी की जिंदगी बदल जाए और आप किसी के प्रेरक बन जाए

अगर समय हो तो vivekananda जी की यह कहानी जरूर पढ़ें कभी गुस्सा नहीं आएगा

 

धन्यावाद 

 

WEB TITLE:small story in hindi,moral stories in hindi,short stories for kids in hindi,any moral stories in hindi,hindi story for childrens,any short story in hindi,simple story in hindi,educational story in hindi,new moral stories in hindi,bedtimes stories in hindi


This is a small story in hindi of Swami vivekananda short story in hindi with moral which will guide how to succeed in life and achieve your goals


Previous
Next Post »