महात्मा बुद्ध की कहानी जिसने लोगों की जिंदगी बदल दी-New mahatma budh story in hindi

महात्मा बुद्ध की कहानी जिसने लोगों की जिंदगी बदल दी-mahatma budh story in hindi

inspirational story in Hindi, mahatma buddha motivational story in  Hindi, inspirational story in Hindi, buddha moral stories in Hindi

नमस्कार दोस्तों आपका स्वागत है हमारे ब्लॉग himachaljosh.in मे और आज मैं ले के आया हूँ गौतम बुद्धा की कहानी gautam buddha motivational story in hindi और यह hindi story आपको बहुत पसंद आएगी और आपका life के प्रति नजरिया बदल जाएगा और अगर आपको यह कहानी पसंद आए तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें क्या पता आपके एक शेयर से किसी कि जिंदगी बदल जाए और आप किसी के प्रेरक बन जाए 

mahatma budh story in hindi 

एक बार महात्मा बुद्धा सुबह सैर कर रहे थे तो एक आदमी उनक पास आया और कहने लगा कि आप बहुत महान है मैंने सुना है कि आपको परम ज्ञान उपलब्द है मुझे भी परम ज्ञान हासिल करना है मुझे उम्मीद है कि आप मुझे ज्ञान का मार्ग दिखाएंगे। महात्मा बुद्ध ने बड़े ही मुसकुराते हुए चेहरे से बोला कि तुम्हें मुझसे इतनी उम्मीद क्यों है ?


वह व्यक्ति कहने लगा कि मैंने अपने जिंदगी का एक बड़ा हिस्सा इस दुनिया को समझने मे लगा दिया मई यह समझ गया हूँ कि इस दुनिया मे सब स्वार्थी है सभी अपने बारे मे ही सोचते हैं सभी कोई किसी को समझना नहीं चाहता और अभी अपने मतलब के लिए जीते हैं और बड़े ही कम लोग है इस दुनिया मे जो दूसरों की मदद करना चाहते हैं कोई भी निस्वार्थ किसी की मदद नहीं करना चाहता 


ऐसे ही आप है जो निस्वार्थ सबकी मदद करते हो इसी कारण मैं आपके पास आया हूँ gautama buddha ने कहा कि तुम्हें ऐसा क्यों लगता है कि इस दुनिया मे अंधकार है? तो वह कहता है कि मैं एक कवि हूँ और मुझे लिखना पसंद है लेकिन मेरे पिताजी को यह पसंद नहीं वह चाहते हैं कि मैं कुछ और काम करू और ज्यादा पैसे कमाऊँ उन्होंने मेरी शादी भी ऐसी लड़की से कारवाई है जिसे मैं प्रेम नहीं करता और मेरी उससे लड़ाई होती है और मैं घर छोड़ दूंगा 


और एक दिन मैंने ऐसा ही किया मैंने घर त्याग दिया मैं अपने दोस्तों के पास गया अपने मित्रों के पास गया लेकिन वहाँ उन्होंने मेरी मदद नहीं कि और आखिरी मे मैं साधु संतों के पास ज्ञान प्राप्ति करने चला गया और वहाँ मुझे पता चला कि दुनिया मे सभी अपने मतलब के लिए जी हैं और कोई किसी कि मदद नहीं करता 


lord buddha मुस्कुरा कर बोले कि यह घड़ा है इसे तुम संभाल के रखोगे और इसे टूटने नहीं दोगे और हर रोज तुम मेरे आश्रम के वृक्षों को पानी दोगे ,पूरे आश्रम की सफाई करोगे ,सभी शिष्यों के भोजन की व्यवस्था तुम करोगे और उनके साथ भिक्षा मांगने भी जाओगे और ना ही तुम मेरे आश्रम मे बिना मेरी इजाजत के आओगे और सही समय मैं तुम्हें खुद बुला लूँगा और अगर तुम्हें कोई बात करनी हो तुम यह घड़ा ही मेरे पास ले के आना 


व्यक्ति को काम करते एक महिना हो गया और वह व्यक्ति घड़ा लेकर बुद्ध के पास गया और कहने लगा कि हे गोतम बुद्ध मुझे यहा काम करते एक माह हो गया है लेकिन मुझे आपने अपनी सभा मे नहीं बुलाया बुद्ध ने कहा कि सही समय आने पर मई तुम्हें बुलाया लूँगा , व्यक्ति को काम करते दो माह हो गए फिर से व्यक्ति गौतम बुद्ध के पास गया और कहने लगा कि आप मुझे अपनी सभा मे क्यों नहीं बुलाया रहे मुझे यहाँ काम करते 2 माह हो गए हैं लेकिन बुद्ध ने कहा कि सही समय आने पर म तुम्हें buddha temple यानि आश्रम बुला लूँगा


ऐसे करते हुए व्यक्ति के 3 माह से भी ज्यादा का समय बीत गया लेकिन mahatma buddha ने उसे नहीं बुलाया एक दिन उस व्यक्ति की धैर्य शक्ति टूट जाती है और वह बुद्ध के पास जाता है और कहने लगता कि आपने मेरे साथ अच्छा नहीं किया मेरे से बाद आए लोगों को आपने शिष्य के रूप मे स्वीकार लिया और मुझे आप इस्तेमाल करते रहे मुझे आपने अपना गुलाम बना लिया आखिर आप मुझे अपनी सभा मे क्यों नहीं बुलाते हो ? भगवान बुद्धा कहा कि मैं शीघ्र ही तुम्हें अपने पास ध्यान सभा मे  बुलाऊँगा 


वह व्यक्ति आग बबूला हो गया और उसने हाथ मे लिया घड़ा नीचे फेंक दिया लेकिन वह लज्जित होने लगा और गौतम बुद्ध से माफी मांगने लगा और कहने लगा कि मुझे माफ करें मुझे गुस्सा आ गया था और god buddha ने कहा कि अब तुम मेरी सभा मे शामिल हो सकते हो, बुद्ध उसे सभा मे ले गए और वहाँ उन्होंने प्रवचन दिया 




प्रवचन मे महात्मा बुद्ध कहने लगे कि उस दुनिया मे दुख का कारण है किसी से उम्मीद करना जब हम किसी से उम्मीद लगा लेते हैं और वह उम्मीद पूरी नहीं होती है तो वह उम्मीद दुख का कारण बन जाती है एक पिता को उम्मीद होती है कि उसका पुत्र उसके दिखाए रास्ते पे चलेगा वैसे ही पुत्र को उम्मीद होती है कि पिता उसके रास्ते को समझे और उसकी सहायता करे और वासे ही पति को पत्नी से और पत्नी को पति से 


देखा जाए तो इस दुनिया मे सभी किसी न किसी से उम्मीद करते हैं लेकिन सच्चाई तो यही है कि उम्मीदें तो एक की ही पूरी होनी है और यही उम्मीदें पूरी न होने कारण क्रोध का रूप ले लेती है । क्रोध बुद्धि का नाश कर देता है और व्यक्ति इसमे अपना ही नुकसान कर बैठता है 


और उसे प्रकार तुमने सबसे उम्मेदएन की और जब तुम्हारी उम्मीदें पूरी न हुई तो तुम घर से भाग आए तो वह व्यक्ति कहने लगा कि क्या हमे किसी से उम्मीद नहीं करनी चाहिए ? बुद्ध ने कहा कि जब भी तुम दूसरों के लिए अपने स्वार्थ की उम्मेदएन रखोगे तो हमेशा दुख पाओगे और जब तुम किसी को खुश रखने की उम्मीद रखोगे तो हमेशा खुश ही रहोगे और दूसरों को भी सुख दोगे 


वह व्यक्ति बोलामई भी अब परम ज्ञान के रास्ते पे निकना चाहता हूँ shree budha ने कहा कि अभी तुम घर जाओ अपने पिता से क्षमा मांगों अपनी पत्नी से क्षमा मांगों तथा अपना ग्रहस्त जीवन जियो तब वह व्यक्ति बोला कि हे बुद्ध तो क्या मैं परम ज्ञान कि प्राप्ति नहीं कर सकता आप मुझे क्यों यहाँ से भेज रहे है ? तो बुद्ध ने कहा जिसे ज्ञान प्राप्त करना है वह घर मे भी पर्याप्त कर सकता है तब परिवार के सदस्य राह का रोड़ा नहीं बल्कि रास्ते का सहयोग बन जाते है 


अभी तुम्हें इस दुनिया मे अंधका ही नजर आता है लेकिन तुम देखो कि तुम्हें प्रकाश कहाँ से नजर आ रहा है घर जाओ ध्यान करो ध्यान के लिए साधुओं से संपर्क करो धीरे धीरे तुम परम ज्ञान की खोज मे निकलने लग जाओगे और तुम्हें रास्ता मिल जाएगा जिसपर चल कर तुम परम सत्य को पा सकोगे और वह व्यक्ति अपने घर चला गया 


इसपर एक शिष्य ने पूछा कि आप सबको अपनी सभा मे शामिल करते हो लेकिन आपने इसे घर क्यों भेज दिया तो भगवान गौतम बुद्ध कहने लगे कि इस दुनिया मे बुद्धि के विकास और ज्ञान के प्राथमिक चरण को पार करने के लिए दुनिया से होकर गुजरना पड़ता है कोई भी सांसारिक दुनिया से दूर रहकर या घर त्याग कर सन्यासी होकर ज्ञान के मार्ग पर नहीं बाद सकता इसके लिए इस दुनिया मे रखर दुनिया को जानना जरूरी है तभी वह आगे का सफर शुरू कर सकता है 


यह भी पड़ें 

भगवान गौतम बुद्धा की प्रेरणादायक कहानी जिसने जिदगी को अलग नजरिया दिया  gautam buddha inspirational story in hindi


तो दोस्तों अगर आपको यह gautam buddha story in hindi kahani पसंद आई हो हमें कमेंट मे जरूर अपनी राय दें आपकी राय हमे और भी अच्छी कहानिया लिखने को प्रेरित करती हैं और ऐसे ही हम hindi moral stories ,hindi inspirational stories,hindi motivational stories आपके लिए लाते रहेंगे



WEB TITLE: maamgautam buddhaa inspirational stories,gautam buddhaa motivationalstory in hindi,lord gautam buddha ki kahani,gautam buddhaa story in hindi language

ah




Mahatma budh story in hindi,mahatma budh story in hindi pdf,short story of mahatma budh in hindi,mahatma buddha ki kahaniyan,mahatma budha ki kahani,latest mahatma budha inspirational story,mahatma budha moral stories,moral stories of buddhalord gautam buddha stories in hindi

Previous
Next Post »