यह पढ़ने के बाद कभी गुस्सा नहीं आएगा-New gautam Buddha inspirational story in hindi

 यह पढ़ने के बाद कभी गुस्सा नहीं आएगा-New gautam Buddha inspirational story in hindi 

Inspirational story in hindi,motivational story in hindi,new inspirational and motivational story in hindi for success,gautama buddha success story in hindi,gautam buddha quotes




नमस्कार दोस्तों आपका स्वागत है हमारे हिन्दी ब्लॉग himachaljosh.in मे जहां आपको मिलती है inspirational stories in hindi ,moral stories in hindi ,motivational stories in hindi ,biography in hindi और भी कई प्रकार की कहानिया और लेख जिनसे आपको बहुत कुछ सीखने को मिलता है, लेकिन आज मई आपके लिए ले के आया हूँ Gautam buddha new inspirational story in hindi जिसमे आपको बताया है कि कैसे आप अपने गुस्से को काबू कर सकते हो और अगर आपको यह लेख पसंद आए तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर share कीजिए क्या पता आपके एक share से किसी कि जिंदगी बदल जाए और आप किसी के प्रेरक बन जाओ 



Story Of Gautam Buddha 

एक समय कि बात है महात्मा बुद्ध जंगल मे अपने शिष्यों को प्रवचन दे रहे थे गुस्से के बारे मे कि कैसे क्रोध मनुष्य का नाश कर देता है क्रोध हम दूसरों पर करते हैं लेकिन वह हमारा ही विनाश कर देता है लेकिन वहाँ पर एक क्रोधी या यूं कहें कि घमंडी व्यक्ति भी बैठा था और उसे गौतम the buddha कि क्रोध की यह बातें बिल्कुल पसंद नहीं आ रही थी और उससे महात्मा बुद्ध पर गुस्सा भी आ रहा था कि यह किस प्रकार का प्रवचन दे रहा है 


lord buddha  प्रवचन तो गुस्से पर दे रहे थे किन्तु उनका चेहरा बहुत ही शांत था,बुद्धा को शांत देखकर उस व्यक्ति को गुस्सा आया और उसने बुद्धा पर थूक दिया यह सब हदेख्ने के बाद बुड्ढा के सभी शिष्य भड़क गए और पूरी सभा मे अफरा तफरी मच गई बुद्ध के शिष्य उस आदमी पर भड़क गए लेकिन बुद्ध बहुत ही शांत थे Smiling buddha उन्होंने अपना मुह पोंछा 


भगवान बुद्ध के मुंह पर थूककर वह आदमी वहाँ से चला गया,बुद्ध से उनके शिष्यों ने पूछा कि आपने देखा नहीं कि वह आप पर थूक के चला गया और आपका अपमान भी किया किन्तु फिर भी आप बहुत शांत है तो इसपर महात्मा बुद्ध कहते हैं कि आप लोग शांत हो जाए उसने जो मेरे साथ किया शायद उसे कोई परेशानी होगी या फिर कई सारी परेशानियों से घिरा हो इसमे उसका कोई दोष नहीं है तो आप लोग इतनी चिंता मत कीजिए 


अगली सुबह वह व्यक्ति बुद्धा के पास आया उसका गुस्सा शांत हो चुका था और उसके मुख पर पछताव था और वह आते ही बुद्धा के चरणों मे गिर कर बलने लगा ही बुद्धा मुझे माफ करें मैंने आप पर कल थूका और गुस्सा किया परंतु फिर भी आप शांत थे तो इसपर बुद्धा ने कहा कल की बातें तो मैं कल ही छोड़ आया मैं अगर क्रोध करता तो उससे तुम्हें कोई फरक नहीं पड़ता अलकी उल्टा मेरा ही दिल दुखता 


हर बात या बुरी बात को अगर याद रखने लगे तो जीवन ठहर जाता है और परेशानियाँ बदती ही जाएंगी इसमे क्रोध करने  वाले का ही नुकसान है न कि जिसपर क्रोध हो रहा हो तो दोस्तों इस कहानी से हमे यह सीख मिलती है कि हमे बुरी बातों को पीछे छोड़कर आगे बढ़ना चाहिए, दोस्तों आपने अगर god buddha की आखिरी बात पर ध्यान दिया हो तो उन्होंने कहा कि मैं अगर क्रोध करता तो उसमे मैं अपना ही नुकसान करता जबकि तुम्हें उससे कोई फरक नहीं पड़ता और सिर्फ मेरा ही दिल दुखता । 



Buddha Life Quotes 

तो प्यारे दोस्तों इससे हमे सीख मिलती है कि अगर हम ऐसे ही पुरानी बीती हुई बातों को सोचते रहेंगे तो हमारा जीवन और भविष्य रुक जाएगा परेशानियाँ और भी बाद जाएंगी किसी की बातों को लेकर बैठ जाना समस्या का हाल नहीं इससे आप अपने आप को एक ही जगह पर बांध के रखते हैं जबकि दूसरा शकस बिना किसी परेशानी के घूमता फिरता है 


तो दोस्तों आज के बाद अगर आपको गुस्सा आए तो यह सोचना कि इससे आपका नुकसान ही हो रहा है जानकी किसी को कुछ फरक यही पड़ता और हमे कमेन्ट मे अपनी राय जरूर दें और बताएं की आपको इस लेख से क्या सीखने को मिला 


यदि आपके पास समय है तो इस कहानी को जरूर पढ़ें कैसे विकेकानंद ने कम उम्र मे बहुत कुछ हासिल कर लिया



Web Tile:inspirational stories in hindi for students,inspirational short story,gautam buddha inspirational short story in hindi,short motivational story,gautam buddha inspirational story for success,how to control anger in hindi,gusse ko kaabu me kaise karen,real,success story,best inspirational story,gautam buddha new best inspirational stories,gautam buddha inspiring story,short inspirational story,successh kahani,motivational kahani


Previous
Next Post »