2020 best short moral stories in hindi for class 1 to 5 - बंदरों का राजा

कसे हो बचहो आप सभी का स्वागत है हमारे हिन्दी ब्लॉग मे और आज मई आपके लिए ले के आया हूँ short moral stories in hindi for class 1 क्योंकि इस कहानी से बच्चों मो बहुत बड़ी सीख मिलेगी , आज कल के बच्चों को moral stories पढ़ना बहुत पसंद है कुनकी learning moral stories बच्चों को सीख देती है , तो आप भी इस hini kids kahani को अंत तक पढिए 
monkey story
short moral stories in hindi for class 1
अगर आपको small short moral stories in hindi for kids पसंद आए तो इसे अपने साथियों के साथ jaroor share कीजिए और इं moral kahaniyan उन्हे भी पढ़ाइए। तो चलिए बिना आपका समय लिए शुरू करते है आपकी मनपसंद shost moral stories in hindi
 
बंदरों का राजा 

this is the best short moral story in hindi and name of the story is monkey story in hindi  for class 1to 5 kids which help them to learn good things from our stories 

नमस्कार दोस्तों आपका हमारे हिन्दी ब्लॉग मे स्वागत है और आज मई आपके लिए ले के आया हूँ बहुत ही अच्छी hindi moral story जो कि आपको पसंद आएगी अगर पसंद आए तो इसे अपने दोस्तों से जरूर शेयर करें और ऐसी ही best hindi stories के लिए हिमाचल जोश को पढ़ें

तो दस्तों बिना आपका समय लिए इस बेस्ट hindi story for kids को शुरू करते हैं


घमंडी वानर राजा और उसका होशियार पुत्र Short story for kids in hindi

बहुत समय पहले जंगल मे एक क्रूर वानर राजा राज करता था उसके झुंड मे उसकी पत्नी और बच्चे थे उसे यह भी था कि उसका कोई पुत्र बड़ा हिकार राजा बन जाए उसकी यह नीती थी कि वह हर बच्चे के पैदा होने के बाद उसे काट देता था इसके चलते बालक वानर इतना दुरलब हो जाता कि पिता को चुनौती नहीं दे पाता 

वानर राजा की पत्नी ने सोच कि अगर उसका फिर से कोई पुत्र हुआ तो राज्य उसे फिर से काट देगा और यह सब कब तक चलेगा इसलिए उसे कुछ करना चाहिए वह दूर वन मे चली गई समय बीत रहा था और अकेले रहकर वानर की पत्नी परेशान हो चुकी थी लेकिन वह अपने बेटे के लिए कुछ भी कर सकती थी 

Short moral story of monkey in hindi

शीघ्र ही उसने तेजस्वी वानर पुत्र को जन्म दिया मा और पुत्र ने अपने दिन प्रसन्नाता पूर्वक व्यतीत किए वानर पुत्र एक शक्तिशाली वानर के रूप मे बड़ा हो गया,एक दिन उसने अपनी मा से पूछा के उसके पिताजी कहाँ है और मई उन्हे देखना चाहता हु?

तभी माँ ने कहा कि तुम्हारे पिताजी एक राजा है और वह तुम्हें काट कर तुम्हें निर्बल बना देंगे कयोनी उन्हे भी है कि उनका पुत्र उनके स्थान पर राजा बन जाएगा इसलिए अपने पिता से मिलने का विचार त्याग दो इसके बीच बेटे ने कहा कि आप मेरी चिंता मत कारों मा मई अपनी देखबाल कर सकता हूँ 

2020 best short moral stories in hindi for class 1 to 5


 राजा ने अपने बेटे को गले लगाया औ दबाने लगा लेकिन बीटा वानर बहुत ही शक्तिशाली था और उसने भी पिता को तब दबाया जब तक वानर पिता की एक एक हड्डी नहीं टूटी,इस भयंकर मिलन के बाद वानर राजा और भी भयबीत हो गया कि एक दिन उसका पुत्र उसका वध कर देगा 


इस भयंकर मिलन के बाद वानर राजा और भी भयाबीत हो गया कि एक दिन उसका पुत्र उसका वध कर देगा फिर उसने सोचा कि पास मे एक तालाब है जहां एक राक्षस रहता है और मेरे पुत्र को खाने के लिए उसको लाना पड़ेगा और फिर उसकी समस्याएं समाप्त हो जाएगी 

इसी बीच राजा ने वानर बेटे को अपने पास बुलाया और कहा कि ये मेरे पुत्र अब मै बूढ़ा हो गायन हूँ और अब तुम्हें राजा बनना है और लेकिन तुम्हारे राज्याभिषेक के लिए तुम्हें पास के तालाब से कमाल और 3 प्रकार के लाल फूल लाने होंगे और वानर पुत्र पुष्प लेने तालाब की ओर चला गया 

और जब वानर पुत्र तालाब मे पहुंचा तो वहाँ तरह तरह के फूल लगे हुए थे परंतु तालाब मे घुसकर फूल लाने के वाजे उसने ध्यान से जांच की वो धीरे धीरे तालाब की ओर बदने लगा और उसने देखा की तालाब के तरफ पैरों के निशान जा तो रहे हैं लेकिन वापिस नहीं आ रहे ?


कुछ देर सोचने के बाद उसे पता चल गया कि की इस तालाब मे जालदैतय का राज है और उसे पता चल गया की उसके पिता ने उसे मारने का शाजिश रची है और मुझे उसे हराने का तरीका ढूँढना होगा,उसने आगे जांच की और तालाब का सुरक्षित भाग भी ढूंढ लिया 

best short moral stories in hindi 


काफी कोशिशों के बावजूद वह एक भाग से दूसरे भाग तक जाने मे सफल हो गया और अपनी अपनी छलांग लगाकर उसने नीचे झुककर पुष्प भी तोड़ लिए लेकिन अचानक एक तेज आवाज आई और वानर ने किनारे पर खाद्य होकर देखा कि वहाँ के एक जालदैतय था और जालदैतय को राजकुमार को देखकर बहुत आश्चर्य हुआ 

और उसने कहा कि कि मई इस तालाब मे बड़े मनुष्यों को और जानवरों को देखा लेकिन इस वानर जैसा बुद्धिमान नहीं देखा और इसने मेरी बिना शक्ति मे आए इस तालाब से अपने सारे मनपसंद फूल तोड़ लिए

धीरे धीरे दैत्य तालाब से बाहर वानर की ओर आने लगा दैत्य ने पूछा कि तुमने तालाब से पुष्प क्यों निकाले इसपर वानर राजकुमार ने कहा की मेरे राज्याभिषेक के लिए महाराज ने फूल मंगाए है इसपर दैत्य ने जवाब दिया कि इन पुष्पों को मै खुद आपके साथ लेकर महाराज के पास जाऊंगा ओर वह दोनों पुष्प लेकर राजा की ओर जा रहे थे  


राज्य वानर ने दूर से दोनों को आते देख हैरान हो गया और उसने सोचा की मई अब हार गया हूँ,वानर राजा को लगा की उसके बुरे काम का परिणाम आ गया है उसने अचानक से खुद को चोट पहुंचाई और उसकी उसी खान मृत्यु हो गई,वानर समहू वानर राजकुमार को नया राजा बनाने के लिए एकजुट हो गया 


Moral Of The Story: इससे यह सीख मिलती है कि हमेशा सतर्क और होशियार रहने का फल हमेशा मिलता है जैसे कि उस राजकुमार वानर को मिला 

दोस्तों ये थी monkey story in hindi और moral stories in hindi for class 1 मुझे उम्मीद है कि आपको यह famous hindi short story पसंद आई होगी ऐसी ही Moral Srtories Hindi मे पाने के लिए हमारे साथ जुड़े रहे धन्यवाद और अगली कहानी होगी हमारी crocodile and monkey story in hindi


WEB TITLE: moral of the story monkey and crocodile, crocodile and monkey story in hindi language,moral of the story monkey and crocodile in hindi,crocodile and monkey story in hindi written,crocodile and monkey story in hindi with pictures,very short stories in hindi with moral,short story in hindi with moral for class1 ,children stories in hindi,kids stories in hindi,hindi stories for class 1,class 1 hindi kahani








Previous
Next Post »