Best,New [Whatsapp] Janmashtami Wishes,,Janmashtami quotation 2020

Best,New [Whatsapp] Janmashtami Wishes,Janmashtami quotation 2020
नमशकार दोस्तों आज मई आपके लिए ले के आया हु Best,New [Whatsapp] Janmashtami Wishe,,Janmashtami quotation 2020 दोस्तों जनमाष्टमी 2020 12 अगस्त को है और इस साल जनमाष्टमी के अवसर पर मै आपके लिए ले के आया हूँ whatsapp janmashtami wishes,status,janmashtami quotes 2020
www.himachaljosh.in
happy janmashtami 2020 images
Janmashtami 2020
श्री कृष्ण जनमाष्टमी को भारत मे ही नहीं बल्कि विदेश मे भी बड़े हर्षो उल्लास से मनाया जाता है,कृष्ण जनमाष्टमी भगवान श्री कृष्ण के जन्मदिन के रूप मे मनाई जाती है। भगवान श्री कृष्ण भगवान विष्णु का ही अवतार थे उनका जन्म लेने का उद्देश्य कसं के बड़ते अत्याचार को खत्म कर उसको मारना था जिसके लिए उन्होंने कसं की बहन देवकी के पेट मे जन्म लिया था 
बहुत से लोग इस दिन व्रत व उपवास रखते है 

जनमाष्टमी उत्सव क्या है?

भारत और अन्य भी देशों मे इस पर्व को बड़े धूम धाम से मनाया जाता है इस त्योहार के दिन बड़े बड़े मंदिरों मे कृष्ण का जन्मदिन मनाया जाता है उत्सव के दौरान देश विदेश से लाखों भक्त मंदिरों मे दर्शन के लिए आते हैं इस दिन मंदिरों मे विशेष झांकियों का आयोजन किया जाता है इस दिन भगवान श्री कृष्ण को झूला झुलय जाता है और बहुत से मंदिरों मे रास लीला का आयोजन भी किया जाता है 

जनमाष्टमी का त्योहार क्यों मनाया जाता है 

कसं एक बहुत ही दूरचारी और अत्याचारी राजा था जो कि अपनी प्रजा को पीड़ा दिया करता था प्रजा भी उसे पसंद नहीं करती थी, कसं की एक बहन थी जिसका नाम देवकी था,कसं आओनी बहन देवकी से बहुत प्यार करता था उसने अपनी बहन का विवाह वासुदेव के साथ करवा दिया विवाह के पश्चात वे दोनों घर ही आ रहे थे की आकाश से भविष्यवाणी हुई और उसमे कहा गया कि देवकी के आठवें पुत्र से कसं की मृत्यु होगी 

यह सब सुनकर कसं ने अपनी बहन देवकी और वासुदेव को कारागार मे डाल दिया और एक के बाद एक देवकी के 7 संतानों को कसं ने मार गिराया आठवें संतान के रूप मे श्री कृष्ण ने जन्म लिया,जब श्री कृष्ण ने जन्म लिया तो अक्षवानी हुई और और उसमे कहा के श्री कृष्ण को गोकुल नन्द और यशोध के घर ले जाओ और वाहान से उनकी संतान ले आओ 

वासुदेव ने ठीक वैसा ही किया वासुदेव ने एक टोकरी मे डालकर नन्हे श्री कृष्ण को गोकुल ले चल पड़े वासुदेव की बेड़ियाँ अपने आप खुल गायि,कारागार जे पहरेदार बेहोश हो गए और वाऊदेव श्री कृष्ण को लेकर गोकुल चल पड़े रास्ते मे उन्होंने तूफ़ानी नदी पार की जिसका पानी वासुदेव को कंधों से ऊपर नहीं आया और श्री कृष्ण की बारिश से सुरक्षा के लिए 10 सिर वाला सांप टोकरी के ऊपर आ गाय था 

ये सब देखकर वासुदेव को पता चल गया कि उनका बालक को मामूली बालक नहीं है,वसूदेव ने कृष्ण को नन्द यशोधा के घर छोड़कर और उनकी बच्ची को लेकर वापिस आ गए वहाँ जब कसं ने उस बच्ची को मारने की कोशिश की तो बच्ची एक देवी का रूप लेकर आकाशवाणी करने लगि और उसने कहा कि- हे कसं रतूझे मारने वाला देवकी पुत्र इस दुनिया मे जन्म ले चुका है और यह कहकर वह देवी आसमान मे गायब हो जाती है 

श्री कृष्ण गोकुल मे मा यशोधा के घर पलटा है और बाद मे बड़े होकर वह कसं का वाढ कर देते है और इस प्रकार बुराई पर अच्छाई की जीत हो जाती है  इसी लिए जनमाष्टमी के त्योहार को भारत और अन्य देशों मे इतनी धूम धाम से मनाया जात है    
Happy Janmashtami Images 2020

Janmashtami Poet जनमाष्टमी कविता 

जनमाष्टमी का त्योहार है आया रंग रंसीला कृष्ण आया
देवकी मा से जन्म था पाया 
शिशु ले वासुदेव नंदनगरी आया 
यसगहोढ़ के संग लाड़ लड़ाया 
पूरी नन्द नागरी को मस्त बनाया 
नन्द बाबा का था वो दुलार 
माखन मिश्री खूब चुराया 
राधा के संग रास रचाया 
आया रे आया कृष्णा आया 
गोपियों की मटकी फोड़ी 
रास भी उनसे खूब राचाया 
कसं का काल बनकर आया 
आया रे आया कृष्णा आया 

Whatsapp Janmashtami quotation

1.माखन का कटोरा मिश्री का थाल,मिट्टी की खुसबू,बारिश की फुहार,राधा की उम्मीदें कृष्ण का प्यार,मुबारक हो आपको जनमाष्टमी का त्योहार 

2.श्री कृष्ण के कदम आपके घर आए,आप खुशियों के दीप जलाएं,परेशानी आपसे आँखें चुराए,कृष्ण जन्मोत्सव की आपको ढेर सारी शुभकामनाएं 

3.माखन कहकर जिसने चुराया,बंसी बजाकर जिसने नचाया,खुशी मनाओ उसके जनांदिन की जिसने दुनिया को प्यार सिखाया 

4.कृष्ण की महिमा कृष्ण का प्यार कृष्ण मे ही श्रद्धा कृष्ण मे ही संसार, मुबारक हो आपको जनमाष्टमी का त्योहार 

5.नन्द के घर आनंद भयो,जो नन्द के घर गोपाल गयो,जय  हो मुरलीधर गोपाल की जय कनैहया लाल की 

6.गोकुल मे जो करे निवास गोपियों संग जो राचाए रास, देवकी यशोध जिसकी मैया ऐसे है हमारे कृष्ण कैनाहैया 

7.श्री कृष्ण  जिनका नाम गोकुल है जिनका धाम,ऐसे श्री करिहं भगवा को हमारा प्रणाम 

आप सभी को जनमाष्टमी की शुभकामनायें 
Previous
Next Post »